हिन्दू धर्म में क्यों वर्जित है घर पर कुत्ता पलना जाने क्या है वजह

हिन्दू धर्म में क्यों वर्जित है घर पर कुत्ता पलना जाने क्या है वजह




हिन्दू धर्म में घर में कुत्ता पालना निषेध है इसके पीछे एक कारण है ।जो मनुष्य कुत्ता रखता है वह नरक में जाता है इस बात का उल्लेख महाभारत में हुआ है जब पांचो पांडव बिरसन्यास लेकर उत्तर की तरफ चल दिए और 

चलते चलते भीमसेन आदि सभी गिर पड़ते है और अंत में युधिष्ठिर भी लड़खड़ाने लगते है तभी इंद्र की आज्ञा से मतली रथ लेकर आता है और युधिष्ठिर से कहता है की आप सशरीर स्वर्ग पधारो । तभी युधिष्ठिर वहा देखते है

 और कहते है यह कुत्ता मेरी शरण में आया है इस लिए यह भी स्वर्ग जायेगा । धर्मराज बोलते है स्वर्ग में कुत्ते का स्थान नहीं है आप के यज्ञ करने कुआ बावड़ी बनवाने का जो पुन्य होता है उसे क्रोधवस नामक राक्षस ले लेता है ।

इसके लिए सोच विचार कर काम करो इस कुत्ते को यही छोड़ दो ऐसा करने में कोई निर्दयता नहीं है ।युधिष्ठिर बोले मैंने इसका पालन नहीं किया है ये तो मेरी शरण में आया है मै इसको अपना आधा पुन्य देता हु इसीसे ये मेरे

 साथ चलेगा ।इस पर तुरंत धर्मराज प्रकट होते है और बोले मै तो आपकी परीक्षा ले रहा था आप उत्तीर्ण हुए अब स्वर्ग को चले ।तात्पर्य यह है की गिहस्थ को घर में कुत्ता नहीं पलना चाहिए ।

ध्यानपूर्वक देखे और घर में किन वस्तुओ का नहीं होना चाहिए

फूटे हुए बर्तन, टूटी हुई खाट,मुर्गा,कुत्ता,और घर के अन्दर पेड़ इत्यादि नहीं होने चाहिए।

  • घर में फूटे बर्तन में कलियुग का स्थान माना गया है 
  • घर में टूटी खाट या बेड रहने से धन की हानी होती है 
  • घर में अगर मुर्गा या कुत्ता रहने से देवता हवन ग्रहण नहीं  करते है
  • घर में अगर कोई पेड़ है तो उसके जड़ो में सांप,बिच्छु का रहना अनिवार्य है इसलिए घर के भीतर पेड़ ना लगाये ।
नोट:-कुत्ता महान अशुद्ध माना गया है। उसके खान-पान से,स्पर्शसे,इधर-उधर बैठने से ,गृहस्थ के घर में अपवित्रता आती है। और अपवित्रता का मतलब (नरक) होता है ।

ऐसी रोचक जानकारी के लिए kdbnewshindi.com को सब्सक्राइब करे!

0 Comments:

दोस्तों पोस्ट कैसी लगी उसके बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे और दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे !