आज है मशहूर लेखक जावेद अख्तर का 73वा जन्मदिन जानिए कैसे रहा उनका फिल्मी सफर

आज है मशहूर लेखक जावेद अख्तर का 73वा जन्मदिन जानिए कैसे रहा उनका फिल्मी सफर


आज है मशहूर लेखक जावेद अख्तर का 73वा जन्मदिन जानिए कैसे रहा उनका फिल्मी सफर
image:@twitter


सुरत:  Bollywood के सबसे सफल लेखक और कहानीकार जावेद अख्तर का जन्म सन 1945 में मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर में हुआ था । भारत तब ब्रिटिश इंडिया के नाम से जाना जाता था । उनके पिता का नाम जान निशार अख्तर था । उनके पिता जी बॉलीवुड में गीतकार और उर्दू कविता लिखते थे। उनकी माता का नाम सफिया अख्तर था जो कि पेशे से वो सिंगर थी और साथ मे टीचिंग और राइटिंग भी करती थी।

जावेद अख़्तर का पूरा फैमिली बैकग्राउंड लेखक ही था । एक तरह से मन जाए तो लिखने की कला उन्हें विरासत में मिली थी।उनके दादा जी मुज़तार खैराबादी वो भी लेखक थे ।उनके दादा के बड़े भाई बिस्मिल खैराबादी है । जावेद अख्तर का पहलेओरिजिनल नाम "जादू " रखा गया था ।उनका नाम उनके पिता जी ने अपने एक गाने के बोल से निकाल कर रखा था "लम्हा लम्हा किसी जादू का फशाना होगा " से लिया था ये उन्ही की रचना है । बाद में उनका नाम जादू से मिलता जुलता जावेद रखा दिया गया । जावेद अख़्तर की स्कूली शिखा up के लखनऊ शहर से हुई है ।और उनका स्नातक की शिक्षा सैफिया कॉलेज भोपाल से हुआ है।

जावेद अख्तर  मुस्लिम फैमिली से आते है । इनके दो बच्चे है जिनमे से आप सभी जानते ही होंगे । लड़का फरहान अख्तर और लड़की का नाम ज़ोया अख्तर है दोनों डिरेक्टर और एक्टिंग के क्षेत्र में मौजूद है । जावेद अख्तर ने पहले शादी हनी ईरानी से किया था इनके दोनो बच्चे उन्ही से हुए थे । बाद में उन्होंने हनी ईरानी को तलाक दे कर सबना आजमी से शादी कर लिया था । आपको बता दे शबाना आज़मी मशहूर लेखक
कैफी आज़मी की बेटी है । 

जावेद अख़्तर शुरू में मुस्लिम धर्म को मानते थे लेकिन बाद में वे नास्तिक हो गये । और दोनों बच्चो को भी नास्तिक रूप में पाल पोश के बडा किया है। उनके लड़के फरहान ने एक हेयर स्टाइलिस्ट अधुना अख्तर से शादी की है ।

 फिल्मों का सफर कब शुरू हुआ 

आज है मशहूर लेखक जावेद अख्तर का 73वा जन्मदिन जानिए कैसे रहा उनका फिल्मी सफर
शुरू1970 के दसक में कहानीकार कविता और संवाद लेखन वालो को उतनी अहमियत नही दी जाती थी।और न ही कोई क्रेडीट दिया जाता था बड़े ही गुप्त तरीके से कम होता था । उनको बतोर लेखक का दर्जा उस समय के सुपरस्टार राजेश खन्ना द्वारा दिलाया गया उनकी अपनी फिल्म "हाथी मेरे साथी"के लिए यही से उनका कैरीयर स्टार्ट हुआ ।फ़िल्म जो कि सुपर हिट रही लोगो की काफी प्रशंसा मिली।इस फिल्म में सलीम खान ने भी उनके साथ काम किया था ।

उसके वाद दोनों की जोड़ी ने बहोत हिट फिल्में लिखी जिसे इतिहास भूल नही पायेगा।जिसमे कुछ फिल्में मुख्य इस तरह है ।
अंदाज , अधिकार (1971),हाथी मेरा साथी और सीता और गीता ,(1972) यादों की बरात (1973) जंजीर  (1973)
हाथ की सफाई  (1974) दीवार ,शोले (1975) चाचा भतीजा (1977) डॉन,त्रिशुल (1978) दोस्ताना (1980) क्रांति (1981) ज़माना (1985) और mr इंडिया (1987 ) उसके बाद दोनो की जोड़ी अलग हो गई दोनो ने तकरीबन 24 हिट फिल्में साथ मे लिखी थी। साथ हि 2 कन्नड़ भाषा मे फिल्मे लिखी है ।
इसके अलावा बहोत से गीत इन्हों ने अपने कलम के जरिये लीख कर दर्शको को मंत्रमुग्ध किया है । गानो के बोल आज भी सुन कर दूसरी दुनिया मे ले जाते है 

जावेद अख्तर की उपलब्धि 

आज है मशहूर लेखक जावेद अख्तर का 73वा जन्मदिन जानिए कैसे रहा उनका फिल्मी सफर
Image:@twitter
सं1999 में उन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया गया है ।
सं 2007 में उन्हें पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया है। 
साहित्य अकादमी अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है ।
5 बार नैशनल फ़िल्म अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।
4 बार फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।
उनके जन्मदिन दिन की ढेर सारी सुभकामना हमारी टीम के तरफ से इसी तरह जिंदगी में आगे बढ़ते रहे और नई ऊँचाई छूते रहे । 



बॉलीवुड तथा देश दुनिया की खबरों के लिए kdbnews hindi को सब्सक्राइब करें!






0 Comments:

दोस्तों पोस्ट कैसी लगी उसके बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे और दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे !