We are provide latest news,Bollywood news,sports news,political news,health news,fashion news,lifestyle,etc.just one platform in Hindi language.

आपको उम्मीद नहीं होगी देश के सबसे बड़े बैंक की इतनी घटिया हालत

No comments :

आपको उम्मीद नहीं होगी देश के सबसे बड़े  बैंक की इतनी घटिया हालत 

क्या सरकार की लापरवाही है या ब्रांच में बैठे अफसरों की लापरवाही जिन ग्राहकों से पैसा लेते है  उन्ही को परेशान  करते है 
sbi bank surat


सूरत : हमारे देश की विडम्बना है जी लोग जैसे तैसे अपनी जिंदगी गुजार लेते है पर अपने परेशानियों के लिए जल्दी आवाज नहीं उठाते और ये सोचते है की चलो चलता है जब तक तब तक चलते देते है। और इन्ही जगहों से पनपता है भरस्टाचार ,रिस्वत इत्यादि। आज एक ऐसी ही घटना पर हम बात करेंगे को आपको सोचने पर मजबूर कर देगी। मित्रो हम जब किसी बैंक में अपना खता खुलवाते है तो हमें ये उम्मीद रहती है की बैंक हमें और हमारे पैसे दोनों की सुरक्षा और सुविधा दोनों देगा। पर आज के समय में ऐसा बड़ा ही मुश्किल लग रहा है। 
बैंक दिन पर दिन ब्याज के नाम पर जो देती है वह किसी न किसी बहाने आपके अकाउंट से निकल भी लेती है। 
बैंको की हालत पर आपको तरस आएगी की बैंक अपने ब्रांच को ठीक से नहीं चला पा रही है। 

sbi bank surat branch


सूरत में pandeshara  स्थित ब्रांच की हालत कुछ ऐसे देखने को मिली जहा कस्टमर की सुविधा के नाम पर कुछ नहीं है।  सिर्फ लाइन है अगर आप को पासबुक प्रिंट करना है तो लाइन में लग जाओ घंटो लाइन में खड़े रहने के वावजूद जब आपका नंबर आएगा तो मशीन आपका काम नहीं करेगी। कभी बारकोड नहीं है मौजूद नहीं है ब्रांच में संपर्क करे ! ब्रांच में बैठे कर्मचारी  के पास जाओ तो वो आगे भेज देगा फिर घंटो लाइन में खड़ा होना पड़ेगा।
surat sbi branch condition

 मुझे एक बात समझ में नहीं आई जब काम आदमी को करना है तो ३० -३० लाख की मशीन क्यों लगा रखी है 
इस ब्रांच में बैंक का फ्रंट डोर काफी दिनों से ख़राब पड़ा है सुबह 10 :30  से लेकर बैंक बंद होने तक खट  खट  की आवाज से आपका सर खा जाये पर बैंक के मैनेजमेन्ट के कानो में आवाज नहीं जाती। 

वीडियो देखे : 


मैंने इस समस्या के लिए वहा  के कम्प्लेन बॉक्स में लेटर भी डाला है पर अभी तक बॉक्स खुला ही नहीं है। फिर एक दिन मैंने फिर से पूछा की ये दरवाजा ठीक क्यों नहीं कराते। तो कर्मचारी ने जबाब बड़े तंज बहरे शब्दो समें दिया इस लिए नहीं बनवाते ताकि हमें नींद नहीं आये और आप लोगो को भी पता चले की बैंक में कोई आया है। 
अब आप लोग इस बात से अनुमान लगा सकते है.की कोई बैंक अपने ब्रांच के रख रखाव के लिए अलग से बजट देता है जो ब्रांच मैनेजर के अंडर आता है। लेकिन सब पैसे खा जाते है और तकलीफ सर जनता को देते है। 

#sbisurat #bank #corruption
पोस्ट कैसा लगा कमेंट में जरूर लिखे और अधिक खबरों के लिए kdbneshindi .com को subscribe करे ! social media पर खबरे पाने लिए हमारे पेज को लिखे करे @kdbnewshindi 








No comments :

Post a Comment

दोस्तों पोस्ट कैसी लगी उसके बारे में अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे और दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे !